यह है भारतीय जनता पार्टी की कुंडली : जानिए क्या हैं सितारों के संकेत

भारतीय जनता पार्टी यानी बीजेपी का जन्म 6 अप्रैल 1980 में हुआ है। इसके अनुसार बीजेपी की कुंडली बनाई जाए तो मिथुन लग्न और वृश्चिक राशि की कुंडली बनेगी। बीजेपी की कुंडली में अक्टूबर 2012 से सूर्य की महादशा आरंभ हुई है। सूर्य की महादशा में बीजेपी को लाभ होना शुरू हुआ, इसके बाद ही बीजेपी ने गुजरात के तत्कालीन सीएम नरेन्द्र मोदी को पीएम पद का प्रत्याशी बनाया गया। उस समय पीएम मोदी की कुंडली में अच्छा समय था जिसकी वजह से बीजेपी और पीएम मोदी की कुंडली दोनों के ग्रहयोग के चलने के साथ ही पहली बार केंद्र में बहुमत की सरकार बनी।
 
सूर्य की महादशा 6 साल के लिए होती है। तृतीयेश के सूर्य की दशा के चलते बीजेपी ने कई राज्यों में चुनाव जीता। इसी कार्यकाल में बीजेपी ने अपनी सरकार बनाई, परंतु जब बीजेपी की कुंडली में सूर्य की महादशा में शुक्र की अंतरदशा लगभग मार्च 17 से मार्च 18 तक चली, तब तक फल अच्छा नहीं हुआ। तमाम तरह के आरोप लगने लगे। इसके बाद लगभग अप्रैल 18 से नई महादशा चंद्रमा की प्रारंभ हुई, जो कि बीजेपी का धनभाव है। निश्चित रूप से धनेश की दशा उन्नति की ओर ले जाती है, परंतु जब तक धनेश चंद्रमा की महादशा में चंद्रमा की अंतरदशा अप्रैल 18 से लगभग जनवरी 19 तक चली। यह समय भी अत्यधिक विवादों में रहा जिसमें बीजेपी को 3 राज्यों राजस्थान, मध्यप्रदेश एवं तेलंगाना में मुंह की खानी पड़ी, क्योंकि महादशा अंतरदशा एक ही होने पर अच्छा परिणाम नहीं मिलता है। इसी कारण बीजेपी का खराब प्रदर्शन शुरू हो गया है और बीजेपी पर तमाम तरह के आरोप लग रहे हैं।
 
खास बात है कि धनेश चंद्रमा की महादशा में खष्टेश एवं आयेश मंगल की अंतरदशा जनवरी 2019 से प्रारंभ हुई है, जो सफलता की बात तो करती है किंतु चंद्रमा और मंगल दोनों के मूल में होने के कारण आने वाला समय पक्ष में तो होगा किंतु अच्छे परिणाम की उम्मीद कम होगी अर्थात पूर्ण बहुमत प्राप्त करने में संघर्ष अधिक होगा। अंतत: अधिकतर राज्यों में विजय प्राप्त करने में बीजेपी सफल होगी। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख सीमा पर गरजे वायुसेना के लड़ाकू विमान, तेज धमाकों की आवाज से अमृतसर में दहशत